सूत्रसंचालन पाहिजे ?आमचे "सूत्रसंचालन आणि भाषण" हे
Android Application डाउनलोड
करण्यासाठी खाली क्लिक करा



[ Click Here to Download ]


Tuesday, June 19, 2018

योग दिवस whatsapp मेसेज ,कविता संग्रह

योग दिवस कविता संग्रह 


कविता  1)



भाई अपने तन से मन से, दूर कुरोग करें।
आओ योग करें। आओ योग करें।।
स्वास्थ्य हमारा अच्छा है तो, सारा कुछ है अच्छा।
रोग ग्रसित अब नहीं एक भी, हो भारत का बच्चा।।
सूर्योदय से पहले उठकर, निपटे नित्य क्रिया।
सदा निरोगी काया जिसकी, जीवन वही जिया।।
उदाहरण कोई बन जाए, वह उद्योग करें।।
आओ योग करें। आओ योग करें।।
सांसों का भरना-निकालना, प्राणायाम हुआ।
अपने दिल-दिमाग का भाई, यह व्यायाम हुआ।।
किया भ्रामरी और भस्त्रिका, शुचि अनुलोम-विलोम।
सुन्दर है कपाल की भाती, पुलक उठे हर रोम।।
सांस-सांस द्वारा ईश्वर से, हम संयोग करें।
आओ योग करें। आओ योग करें।।
सभी शक्तियों का यह तन है, सुन्दर एक खजाना।
यौगिक क्रिया-कलापों द्वारा, सक्रिय इन्हें बनाना।।
फल-मेवा-पकवान दूध-घी, सब कुछ मिला प्रकृति से।
हमने निज खाना-पीना ही, किया विकृत दुर्मति से।।
ज्ञान और अपने विवेक से, हम सब भोग करें।
आओ योग करें। आओ योग करें।।
पानी और हवा दूषित हो, कुछ न करें ऐसा हम।
चले संभलकर थोड़ा तो यह, दुनिया बड़ी मनोरम।।
सुख से जिएं और सुख से ही, हम जीने दें सबको।
वेद-पुराण-शास्त्र सारे ही, यह बतलाते हमको।।
ईश प्रदत्त शक्ति-साधन का, हम उपयोग करें।
आओ योग करें। आओ योग करें।।
कविता  2) 
आओ हम सब मिलकर योग दिवस मनायें,
गांव-गांव और शहर-शहर में, इसकी अलख जगायें
योग का मतलब है जोड़ना,
मोह को मन से तोड़ना,
मानव को प्रकृति से जोड़ना,
चित्त की वृत्तियों को सिकोड़ना।
बस इतनी सी बात, लोगों को समझायें
आओ हम सब मिलकर, योग दिवस मनायें।
इसमें न कोई खर्चा, न कोई और दिखावा है,
स्वस्थ रहें हम कैसे, बस इसका ही बढ़ावा है।
लेकर चटाई हम सब, धरती पर बैठ जायें,
आओ हम सब मिलकर, योग दिवस मनायें।
चाहे खड़े हों, चाहे बैठे हों, या चाहे हों लेटे,
योग एक स॔तुलन है, विविध विधा लपेटे।
गहरी लम्बी सांस खींचकर, इसे शुरू करायें,
आओ हम सब मिलकर, योग दिवस मनायें।
पद्मासन हो वज्रासन हो, या हो चकरा आसन,
ध्यानमग्न हो बैठ जायें, बिना करे प्राशन।
सबसे पहले उठकर, इसको ही अपनायें,
आओ हम सब मिलकर योग दिवस मनायें।
योग बहुत है फायदेमंद, जैसे शाक मूल और कंद,
मिट जाये सारे मन के द्वंद्व, बिना क्लेश और बिना क्रंद।
दैनिक जीवनचर्या का, हिस्सा इसे बनायें,
आओ हम सब मिलकर योग दिवस मनायें।
आयुर्वेद और योग का, झंडा हम फहरायें,
भारतदेश और विश्व को, रोगमुक्त बनायें।
इसी प्रतिज्ञा को लेकर, हम आगे बढ़ते जायें,
आओ हम सब मिलकर योग दिवस मनायें।

Yoga Day Messages for WhatsApp


सुबह हो या शाम, रोज कीजिए योग
निकट ना आएगा कभी आपके कोई रोग
योग दिवस की शुभकामना
योग है स्वास्थ्य के लिए क्रांति
नियमित योग से जीवन मे हो सुख शांति
हैप्पी योगा डे
योग धर्म नही, एक विज्ञान हैं
यह कल्याण का विज्ञान, यौवन का विज्ञान
शरीर, मन और आत्मा को जोड़ने का विज्ञान हैं
योग दिवस की शुभकामना
Kyaaajaapne yoga kiya..
maineThoaajsuryekonamaskarkiya, oor
Surya namaskar ho gyabakiabsuryebhagwanjane…
kuitnagusee me hai..!
योग शरीर को ही रोगमुक्त नहीं करता
बल्कि मानसिक एवं बौद्धिक स्तर पर मानव को सशक्त,
शांत और ओजस्वी बनाता है।
अच्छे स्वास्थ्य की मनो कामना के साथ
अन्तर्राष्ट्रिय योग दिवस की हार्दिक शुभकामना..!
yog hi ekaisikalahai,
jissejatil se jatilrogko,
durkiyajasaktahai, tatha
swasthjivanjiyajasaktahai..!
aacheswasthyekemanokamnakesath
Happy international yoga day..!
योग ही एक ऐसी कला है,
जिससे जटिल से जटिल रोगों को,
दूर किया जा सकता है, तथा
स्वस्थ जीवन जिया जा सकता है।
अच्छे स्वास्थ्य की मनोकामना के साथ
अन्तर्राष्ट्रिय योग दिवस की हार्दिक शुभकामना..!
Yoga as an art,
Through this complex diseases
can be overcome, and
Healthy life can be lived.
With wishes of good health
Happy international yoga day..!
Yoga teaches us to cure
Yoga teaches us to power equip,
Yoga teaches us to fit mentally,
Yoga teaches us to strong physically,
what we need not be endured and
endure what cannot be cured.
Happy International Yoga Day
Your task is not to seek for love,
but merely to seek and
find all the barriers
within yourself that you have built.
Healthy plants and trees yield
abundant flowers and fruits.
Similarly, from a healthy person,
smiles and happiness shine
forth like the rays of the sun.
You cannot always control
what goes on outside.
But you can always control
what goes on inside.
So start yoga to control
your inside world..!
नियमित योग कीजिए
जिन्दगी भर रोग से दूर रहीए
हैप्पी योग डे
स्वास्थ्य जीवन जीना जिंदगी की जमा पूँजी
योग करना रोगमुक्त जीवन की कुंजी
योग दिवस की शुभकामना
योग है स्वास्थ्य के लिए लाभकारी
योग रोगमुक्त जीवन के लिए गुणकारी
योग दिवस की शुभकामना
रोगमुक्त जीवन जीने की हो चाहत
नियमित योग करने की डालो आदत
योग दिवस की शुभकामना
स्वयं को बदलो, जग बदलेगा
योग से सुखमय हर दिन खिलेगा
योग दिवस की शुभकामना
जो करता योग, उसको नहीं छूता रोग
योगी बनो पवित्री बनो, जीवन को सार्थक बनाओ
योग दिवस की शुभकामना
योग कीजिए, रोग दूर भगाइए
रोज कीजिये, और जीते जाईये
योग दिवस की शुभकामना
“योग”, जीवन का वह दर्शन हैं
जो मनुष्य को उसकी आत्मा से जोड़ता हैं
हैप्पी योग डे
यदि शरीर व मन स्वस्थ नही हैं
तो लक्ष्य को पाना असम्भव हैं
योग करने से मन और शरीर दोनों स्वस्थ होते हैं
हैप्पी योग डे
योग हमे ख़ुद से मिलाता हैं
योग ईश्वर की अनुभूति दिलाता हैं
योग दिवस की शुभकामना
कविता  3 )
हे मानव ! अपने जीवन में,
यदि नित्यदिन करोगे योगा ।
तो बिना रुपइया खर्च किए,
शत प्रतिशत लाभ तुम्हें होगा।
हर कोई इसे कर सकता है,
छोटा, बड़ा, अमीर, गरीब।
न औषधि की आवश्यकता है,
न ही बीमारी आये करीब।
भांति-भांति के आसन हैं,
और भिन्न-भिन्न हैं नाम।
शरीर के हर एक हिस्से को,
मिलता इससे बहुत आराम।
आभार प्रकट करता हूँ मैं,
“मोदी जी” की सरकार का।
जिन्होंने बीड़ा उठा लिया है,
सब रोगों के उपचार का।
21 जून को प्रण कर ले हम,
प्राणायाम सभी अपनाएंगे।
बाबा रामदेव के आसन से,
जन जीवन समृद्ध बनाएंगे।
कविता  4 )
मुक्तक –
बिन खर्चे एक रुपिया ।
कह दो तुम शुक्रिया ॥
योग से मिटे सब रोग,
तो तू क्यों न कर रिया॥
कविता :
न होगा कोई रोग।
सकोगे सब सुख भोग॥
खुश रहेंगे सब लोग।
जो होगा रोज योग॥
रहेगी जो सदा ताजगी।
न होगी दवाई दिवानगी॥
डाॅक्टर से भी रहोगे दूर।
उम्र भी बढ़ेगी भरपूर॥
बढ़ेगी शारीरिक क्षमता।
दिखेगी मानसिक दक्षता॥
थकान न कभी सतायेगी।
तंदरुस्ती सदा पास आयेगी॥
कवि– अमित चन्द्रवंशी

कविता  5 )

हे मानव! अपने जीवन में,
यदि नित्यदिन करोगे योगा।
तो बिना रुपइया खर्च किए,
शत प्रतिशत लाभ तुम्हें होगा।
हर कोई इसे कर सकता है,
छोटा, बड़ा, अमीर, गरीब।
न औषधि की आवश्यकता है,
न ही बीमारी आये करीब।
भांति-भांति के आसन हैं,
और भिन्न-भिन्न हैं नाम।
शरीर के हर एक हिस्से को,
मिलता इससे बहुत आराम।
आभार प्रकट करता हूँ मैं,
“मोदी जी” की सरकार का।
जिन्होंने बीड़ा उठा लिया है,
सब रोगों के उपचार का।
21 जून को प्रण कर ले हम,
प्राणायाम सभी अपनाएंगे।
बाबा रामदेव के आसन से,
जन जीवन समृद्ध बनाएंगे।

No comments:

Post a Comment

आमचे "शिक्षक डायरी मित्र" हे
Android Application डाउनलोड
करण्यासाठी खाली क्लिक करा



[ Click Here to Download ]

श्री रामनवमी बद्दल मराठी माहिती,मराठी सण, मराठी निबंध, भाषण!

श्री रामनवमी बद्दल मराठी माहिती,मराठी सण, मराठी निबंध, भाषण! रामनमवी चा मराठी इतिहास :  तिथी : चैत्र शुद्ध नवमी श्रीविष्णूचा सातवा ...

Adbox